सरल राजयोग - स्वामी विवेकानन्द Saral Rajyog - Hindi book by - Swami Vivekanand
लोगों की राय

धर्म एवं दर्शन >> सरल राजयोग

सरल राजयोग

स्वामी विवेकानन्द


E-book On successful payment file download link will be available
प्रकाशक : भारतीय साहित्य संग्रह प्रकाशित वर्ष : 2016
पृष्ठ :73
मुखपृष्ठ : Ebook
पुस्तक क्रमांक : 9599
आईएसबीएन :9781613013090

Like this Hindi book 4 पाठकों को प्रिय

372 पाठक हैं

स्वामी विवेकानन्दजी के योग-साधन पर कुछ छोटे छोटे भाषण

अमेरिका में श्रीमती सारा सी. बुल के निवास-स्थान पर जब श्री स्वामी विवेकानन्दजी अपने कुछ शिष्यों सहित ठहरे हुए थे उस समय उन्होंने योग-साधना पर कुछ छोटे छोटे भाषण दिए थे जिन्हें श्रीमती बुल ने लिपिबद्ध कर लिया था। उसके बाद सन् १९१३ में अमेरिका निवासी भारतीयों ने इन भाषणों को अन्य भक्तों एवं श्रद्धालु व्यक्तियों के निमित्त एक पुस्तक के रूप में प्रकाशित किया। प्रस्तुत पुस्तक उसी अंग्रेजी पुस्तक का श्री पृथ्वीनाथ शास्त्री द्वारा हिन्दी अनुवाद है। इसमें स्वामीजी ने संक्षेप रूप में राजयोग का सार दिया है। हमारे जीवन-गठन एवं चरित्र-निर्माण के लिए यह पुस्तक बड़ी ही सुन्दर एवं उपयोगी है।

आगे....

प्रथम पृष्ठ अगला पृष्ठ >>

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book